INDIA Blogger

Tuesday, December 1, 2009

"क्या होगा उस महापुरुष के जाने के बाद"

मेरा कैमरा आज सुबह से टी.वी के आगे बैठा मैच देख रहा था और आंसू बहा रहा था मैंने पूछा क्या हुआ तो बोला मैसोच रहा था की क्या होगा जब क्रिकेट का यह महापुरूष संन्यास ले लेगा । सचिन रमेश तेंदुलकर या यूँ कहे की सचिन रिकार्ड तेंदुलकर तो कोई अतिश्योक्ति नही होगी ....मेरा कैमरा सत्य कह रहा है, आख़िर क्या होगा उनके बाद क्या हमारे देश में कोई और सचिन जन्म लेगा । भारत की क्रिकेट बोर्ड के आंतरिक द्वन्द को देखते हुए यह कहना मुश्किल है की उनके बाद क्या होगा ।

जिस बल्लेबाज़ को देखकर विपक्छी टीम के होश उड़ जाते थे कल कोउसकी गैरमौजूदगी में क्या हाल होगा टीम इंडिया का क्या किसी ने इस बारे में सोचा है , नही तो सोचिये क्योंकि अब ज्यादा दिन नही बचा है इस महापुरुष के संन्यास लेने में । आज जो व्यक्ति रिकार्डो के बिस्टर पर सोता जगता हो उसके संन्यास लेने के बाद उसके रिकार्डों का क़र्ज़ कौन वसूल करेगा कल यदि टीम इंडिया बिना इसके अपनी प्रसिद्धी नही साबित कर पायी तो यह हमारे लिया बहुत शर्मनाक होगा । सभी देश हमपर उंगलियाँ उठेयेंगे की हमारी टीम एक ही प्लेयर पर टिकी थी जिसके जाने के बाद सब तहस - नहस हो गया ।

कल को जब यह महान खिलाड़ी इस खेल को अलविदा कहेगा तो हमारे पास क्या होगा उसे देने के लिए तो आज ही से सोचना शुरू कर दीजिये दिलीप जी वरना बड़ी देर हो जाएगी .............


3 comments:

पी.सी.गोदियाल said...

आसमान नहीं गिरेगा जनाव, बेफालतू फूक में चड़ा रखा है ! बैटिंग एक कला है और इस कला के लक्षण उसमे कुदरती है जैसे की एनी कलाओं में और लोगो के पास होती है ! पता नहीं कब सुधरेंगे ये हिन्दुस्तानी, समझ में नहीं आता ! pLZ REMEMBER- MAN MAY COME MAN MAY GO BUT COUNTRY GOES FOR EVER !!

अंशुमाली रस्तोगी said...

न उनके खेलते कोई क्रांति हुई है न उनके न खेलते कोई क्रांति हो पाएगी।

Babli said...

बहुत बढ़िया और सठिक लिखा है आपने! ऑस्ट्रेलिया में आने के बाद मुझे क्रिकेट देखने का मौका नहीं मिलता इसलिए बहुत ही कम जानकारी है पर मुझे तो लगता है की रस्तोगी जी ने बिल्कुल सही कहा है और मैं उनकी बातों से सहमत हूँ!