INDIA Blogger

Saturday, March 20, 2010

"भारतीय सिनेमा जगत के पोस्टर-बदलता चेहरा भाग ४ "

भारतीय सिनेमा जगत में बंगला फिल्मो का बहुत महत्वपूर्ण योगदान रहा है । इन फिल्मो के पोस्टर की बात करे तो काफी कुछ कहते हुए नज़र आते है । पिछले साल एक फिल्म आई थी "लव" आप यही घबरा गए होंगे की बंगला फिल्म का नाम वो भी अंग्रेजी में क्या बात है , तो जनाब ये है आज का बंगला सिनेमा । उस फिल्म में कॉलेज गोइंग स्टुडेंट को इश्क फरमाते हुए दिखाया गया था पर मुझे कही से हीरो हिरोइन कॉलेज गोइंग नहीं लगे पर पोस्टर के क्या कहने दिरेक्टेर ने हिरोइन को एक छोटी सी साईकिल पर बिठाकर उसका फोटो खिचवाया और उसे पोस्टर में छाप दिया अब वो "जवान " हो गयी फिर आई हीरो की बारी तो उसे एक रेड कलर के जैकेट में पोस्टर में चिपका दिया फिर क्या था हो गया वो टीन ग्रुप में शामिल।
पुराने जामने की बंगाली फिल्मो के पोस्टर में सभी विलेन बन्दूक लिए हुए पोस्टर के कोनो में चिपके रहते थे उनके साथ में हीरोइने होती थी जो अधिक कपड़ों में भी कम ढकी होती थी ऐसा लगता था की वो विलेन को दावत दे रही हो , और बीच में हीरो और उसके दोस्तों कइ मरियल से फोटो होती थी की अब दम निकला की तब दम निकला , या फिर अकेले हीरो बाबु होते थे जो अपनी प्रेमिका के वियोग में सुध बुध खो चुके थे पुरे पोस्टर पर उन्ही का कब्ज़ा होता था
आज कल की बंगला फिल्मो के पोस्टर में भी एक उबाल देखने को मिलता है ये क्या है मुझे नहीं पता पर अब पोस्टर का ज़्यादातर भाग हीरोइने ही झटक लेती है हीरो तो बेचारा आधा अदृश्य रहता है । या फिर हीरो और हिरोइन का सीन होता है कुल मिलकर हम यह कह सकते है की बंगला सिनेमा के पोस्टर भी अब रोमांस और प्रेम के अधीन हो गए है जहाँ सिर्फ हीरो हिरोइन को ही जगह मिल पाती है बाकि सब एक लाइन से पोस्टर के एकदम नीचे होते है । पोस्टर के बीचो बीच फिल्म का नाम लिखा होता है जो ज़्यादातर बंगाली भाषा या इंग्लिश में होता है ।
तो ये था बंगला फिल्मो का पोस्टर पुराण अब अगले भाग में हम "अन्ना-रास्कला" की बात करेंगे ......

3 comments:

डॉ. मनोज मिश्र said...

इस पर क्या बताएं,हमे तो समकालीन बंगला फिल्म के बारे जानकारी ही कम है.
लेकिन आप लिख रहे हैं-लिखते रहें..

Babli said...

आपका पोस्ट मुझे बेहद पसंद आया! अच्छा लगा की आपने बंगला फिल्म के बारे में इतना बढ़िया लिखा है और आपको इसके बारे में अच्छा ज्ञान भी है! मैं बंगाली हूँ लेकिन बंगला फिल्म नहीं देखती ज़्यादातर अंग्रेजी देखती हूँ और कभी कभी हिंदी फिल्में देखती हूँ! मैंने लव नामक फिल्म का नाम सुना भी नहीं था और आपके पोस्ट के दौरान अच्छी जानकारी प्राप्त हुई! राजद्रोही फिल्म जिसका चित्र आपने लगाया है उसके बारे में भी मेरी जानकारी नहीं थी!

jayant sahu_जयंत said...

Hello,
Your blog is very great.

चहलकदमी Chahalkadami: अनुष्का शेट्टीः राजमाता शिवगामी का घमंड और देवसेना के गुरूर से बाहुबली-2 सुपर-डुपर हिट